Ye Jameen Hamari Hai

₹95.00
rating
  • Ex Tax:₹95.00
  • Product Code:ISBN: 978-9385450839
  • Availability:In Stock

झारखंड में भूमि अधिग्रहण को लेकर चल रहे आंदोलन के पीछे की राजनीति से रूबरू कराने के साथ यह उपन्यास भावी राजनीति की दिशा की तरफ भी इशारा करता है । काॅरपोरेट कंपनियों के दांवपेंच की झलक भी इसमें दिखती है । पठनीयता से भरपूर यह उपन्यास उम्मीद है कि पाठको..

झारखंड में भूमि अधिग्रहण को लेकर चल रहे आंदोलन के पीछे की राजनीति से रूबरू कराने के साथ यह उपन्यास भावी राजनीति की दिशा की तरफ भी इशारा करता है । काॅरपोरेट कंपनियों के दांवपेंच की झलक भी इसमें दिखती है । पठनीयता से भरपूर यह उपन्यास उम्मीद है कि पाठकों को पसंद आएगा ।

Write a review

Note: HTML is not translated!
    Bad           Good