Kavita | Poem

Showing 1 to 3 of 3 (1 Pages)

Mai Tumhara Aaina

₹256.00

एक बार फिर इन चंद रचनाओं के साथ आपके सामने हूँ । मेरे पास एक आइना है वैसा ही जैसा आपके पास है । हम सभी इस आइने में अपने समय की सच्चाइयों को रीझना-बूझना चाहते हैं । दूसरे शब्दों में कहें तो हम जीवन को अपने-अपने आइने में परिभाषित करना चाहते हैं----- अप..

Tum Bhi To Purush hi ho Ishwar !

₹200.00

स्मिता वाजपेयी की कविताएँ परम्परा में प्रवाहित मूल्यों-संवेदनाओं पर वर्तमान की पथरीली पाटों के बीच गुजरती है । इनके यहाँ स्मृतियाँ है लेकिन वह मोह नहीं है । मिलान कुन्देरा के शब्दों में वह एक ऐसी कल्पना है जो बेहद जटिल होते वर्तमान को देखने की नई दृष..

Wo Jo Rah Gai Ankahi

₹392.00

हर शख़्स की एक दाख़िली दुनिया होती है, जिस में जज़्बातो-एहसासात, भावों और भावनाओं की धाराएँ बहती रहती हैंय और अगर वो शख़्स दानिशमंद होने के साथ-साथ अपने इर्द-गिर्द हो रही तब्दीलियों और कशमकश से भी आशना हो तो एहसास की शिद्दत और हिस्सियत या संवेदनाओं की..

Showing 1 to 3 of 3 (1 Pages)